मोटो जी5एस बनाम शाओमी मी ए1, जानें कौन है बेहतर डुअल कैमरे वाला फोन

पिछले सप्ताह लेनोवो ब्रांड मोटोरोला ने भारतीय बाजार में मोटो जी5एस प्लस को स्मार्टफोन को लॉन्च किया था। वहीं कल चीनी एप्पल कहे जाने वाले शाओमी ने अपने नए मॉडल मी ए1 को पेश किया है। इस लॉन्च के साथ दोनों कंपनियां एक बार फिर से आमने-सामने आ गई हैं। पहले ही मोटो जी सीरीज की टक्कर रेडमी नोट सीरीज से रही है वहीं आज यह लड़ाई डुअल कैमरा फोन को लेकर है। शाओमी मी ए1 और मोटो जी5एस प्लस कीमत के मामले में लगभग समान हैं। ऐसे में आम यूजर के लिए बड़ा सवाल है कि कौन सा फोन दोनों में बेहतर है? तो चलिए आपकी इस परेशानी को दूर करते हैं और बताते हैं कि स्पेसिफिकेशन के लिहाज से किसे अच्छा कहा जा सकता है।

15,000 रुपये के बजट में 9 बेहतरीन डुअल रियर कैमरे वाले एंडरॉयड स्मार्टफोन

1. डिजाइन
बात डिजाइन से शुरू करते हैं। मोटो जी5एस प्लस वैसे तो देखने में अच्छा है लेकिन डिजाइन में नयापन नहीं है। यह अपने पुराने मोटो जी5 सीरीज के फोन के समान ही है। मोटो जी5एस प्लस की बॉडी मैटल की बनी है और पीछे से थोड़ा कर्व है। इस कारण पकड़ने में आरामदायक लगता है। फोन को नैनो कोटिंग किया गया है जो इसे कुछ हद तक पानी से सुरक्षित रखता है।

xiaomi-mi  a1-1

वहीं शाओमी मी ए1 का डिजाइन कंपनी के सभी फोन से अलग है। ये देखने में स्लीक है और काफी स्मार्ट भी। यह भी फुल मैटल यूनिबॉडी डिजाइन में है और बिल्ड क्वालिटी अच्छी है। बैक पैनल में आपको आईफोन की तरह बैंड डिजाइन दिखाई देगा। कुल मिलाकर बनावट के मामले में फोन आपको पसंद आएगा। नए लुक की वजह से यह जी5एस प्लस से बेहतर साबित होता है लेकिन इसमें नैनो कोटिंग नहीं है और ऐसे में मोटो का फोन शाओमी से बाजी मार जाता है।

2. डिसप्ले
मोटो जी5एस प्लस में 5.5-इंच की स्क्रीन दी गई है और इसका स्क्रीन रेजल्यूशन फुल एचडी 1080×1920 पिक्सल है। फोन की स्क्रीन गोरिल्ला ग्लास 3 कोटेड है जो इसे छोटे मोटे खरोंच से बचाती है। फोन का​​ डिसप्ले शानदार है और आप धूप में भी बेहतर व्यू पा सकते हैं।

moto-g5s-plus-1

शाओमी मी ए1 में भी आपको 1080×1920 पिक्सल रेज्ल्यूशन वाली 5.5-इंच की फुल एचडी डिसप्ले देखने को मिलेगा। वहीं स्क्रीन को स्क्रैच व खरोंचों से बचाने के लिए इसे कोर्निंग गोरिल्ला ग्लास से प्रोटेक्टेड किया गया है। हालांकि कपंनी गोरिल्ला ग्लास का संस्करण नहीं बताया है। बावजूद इसके डिसप्ले शानदार है और आपको कोई शिकायत नहीं मिलेगी।

3. प्रोसेसर
मोटो जी5एस प्लस को क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 625 चिपसेट पर पेश किया गया है। फोन में आपको 2.0गीगाहट्र्ज का आॅक्टाकोर प्रोसेसर मिलेगा। इसके साथ ही एड्रीनो 505जीपीयू है। मध्य रेंज में यह प्रोसेसर बेहतर परफॉर्मेंस के लिए जाना जाता है।

xiaomi-mi a1-3

मी ए1 को भी क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 625 चिपसेट पर पेश किया गया है। फोन में 2.0गीगाहट्र्ज का आॅक्टाकोर प्रोसेसर दिया गया है। वहीं ग्राफिक्स के लिए इसमें ऐड्रेनो 506जीपीयू भी मौजूद है। इस मामले में दोनों लगभग समान हैं।

4. रैम व मैमोरी
मोटो जी5एस प्लस को 4जीबी रैम मैमोरी और 64जीबी की इंटरनल मैमोरी के साथ पेश किया गया है। फोन मैमोरी 256जीबी तक बढ़ाई जा सकती है।

moto-g5s-plus-5

शाओमी मी ए1 में भी समान स्पेसिफिकेशन के साथ उपलब्ध है। 4जीबी रैम के साथ 64जीबी की मैमोरी है जो 256जीबी तक एक्सपेंडेबल है।

5. कैमरा
मोटो जी5एस प्लस में आपको 13+13-मेगापिक्सल के दो रियर कैमरे दिए गए हैं। कैमरे के साथ एफ/2.0 अपर्चर वाला सेंसर है। कंपनी का दावा है कि यह बोके इफेक्ट के साथ उपलब्ध है जहां आप बैकग्रांड को ब्लर कर सकते हैं और इसका डेफ्थ आॅफ फिल्ड भी काफी शानदार है। इसके साथ ही 8-मेगापिक्सल का वाइड एंगल सेकेंडरी कैमरा दिया गया है। दोनों कैमरे के साथ आपको फ्लैश मिलेगा।

xiaomi-mi a1

शाओमी मी ए1 के कैमरे की भी चर्चा बहुत ज्यादा है। इस फोन में आपको 12+12-मेगापिक्सल वाईड एंगल डुअल कैमरा है। इसमें एक कैमरा साधारण है जबकि दूसरा लेंस टेलीफोटो वाला है। कंपनी ने बेहतर फोटोग्राफी का दावा किया है। बोके इफेक्ट के साथ इसमें भी बेहतर डेफ्थ आॅफ फिल्ड मिलेगा। वहीं सेल्फी के लिए इस फोन में 5-मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा भी मौजूद है।

moto-g5s-plus-6

हालांकि मेगापिक्सल में मोटो आगे है वहीं सेल्फी कैमरा भी मोटो का ही बेहतर है लेकिन कैमरा फीचर आपको मी ए1 में ज्यादा मिलेगा। ऐसे में मोटो से थोड़े अंक से ही सही लेकिन शाओमी आगे निकल जाता है।

6. सॉफ्टवेयर
मोटो जी5एस प्लस को एंडरॉयड आॅपरेटिंग सिस्टम 7.0 नुगट पर पेश किया गया है और इसे आगे भी अपडेट मिलेंगे। यह आपको प्योर एंडरॉयड का अहसास कराएगा।

xiaomi-mi a1-2

यह पहली बार है जब शाओमी ने मीयूआई को छोड़कर स्टॉक एंडरॉयड पर फोन को लॉन्च किया है। मी ए1 को एंडरॉयडवन इंटीग्रेशन के साथ पेश किया गया है। अर्थात यह फोन एंडरॉयड ओरियो के लिए तैयार है और आगे भी दो साल तक एंडरॉयड के हर लेटेस्ट वर्ज़न का अपडेट इसे मिलेगा। ऐसे में सॉफ्टवेयर के मामले में भी यह जी5एस प्लस से आगे ही नजर आता है।

7. बैटरी
मोटो जी5एस प्लस में 3,000 एमएएच की बैटरी दी गई है। जबकि शाओमी मी ए1 में आपको 3,080 एमएएच की बैटरी देखने को मिलेगी। कंपनी ने फास्ट चार्जिंग का जिक्र नहीं किया है।

यह है नोकिया का भरोसा, सभी नोकिया फोन को मिलेगा लेटेस्ट एंडरॉयड ओरियो का अपडेट

8. कनेक्टिविटी
मोटो जी5एस प्लस में भी दोहरा सिम सपोर्ट दिया गया है और आप माइक्रोएसडी के साथ दोनों सिम लगा सकते हैं। इसके साथ ही फोन में एनएफसी, 3जी, 4जी के अलावा वाईफाई और फिंगरप्रिंट सेंसर भी मिलेगा। फोन में फिंगरप्रिंट सेंसर होम बटन पर है।

ए1 में भी दोहरा सिम सपोर्ट है और आप 4जी वोएलटीई वाईफाई के अलावा ब्लूटूथ का उपयोग कर सकते हैं। हालांकि इसमें एनएफसी नहीं है लेकिन फोन में आईआर ब्लास्टर भी मिलेगा। इसकी मदद से आप घर में मौजूद इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को कंट्रोल कर सकते हैं।

लेनोवो के8 प्लस और के8 हुए भारत में लॉन्च, देखें ​फीचर्स और फुल स्पेसिफिकेशन्स

9. कीमत
मोटो जी5एस प्लस की कीमत 15,999 रुपये है और यह अमेजन इंडिया पर सेल के लिए उपलब्ध है।

वहीं शाओमी मी ए1 को 14,999 रुपये में लिया जा सकता है और यह फोन 12 सितंबर से फ्लिपकार्ट और मी इंडिया स्टोर से लिया जा सकता है।

moto-g5s-plus-3

10 निष्कर्ष
कुल मिलाकर देखें तो दोनों फोन स्पेसिफिकेशन में शानदार हैं और एक दूसरे से कमतर भी नहीं है परंतु डुअल कैमरे को ध्यान में रखकर लेते हैं तो शाओमी ज्यादा बेहतर कहा जाएगा। वहीं गूगल एंडरॉयडवन इंटीग्रेशन की वजह से सॉफ्टवेयर में भी इस बार आगे है। ऐसे में मेरा मत शाओमी मी ए1 को जाता है।